Last Updated on 14/06/2023 by S.R. Verma

दोस्तों कभी न कभी आपने अपने यार दोस्तों से, रिश्तेदारों से या TV समाचार पत्र में आयकर बचाने हेतु ELSS Mutual Fund में निवेश की सलाह देते हुए सुना होगा या देखा होगा | कभी अपने सोंचा है कि आखिर ELSS Mutual Fund क्या होते हैं | ELSS म्यूच्यूअल फण्ड का आयकर (Income tax) बचत से क्या सम्बन्ध है| यदि आप नही जानते है तो आज हम ईएलएसएस म्यूच्यूअल फण्ड के बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे और यदि आपके कोई प्रश्न है इसको लेकर तो कमेंट करके जरुर बताएं तो चलिए शुरू करते हैं|

ELSS Mutual Fund क्या हैं?

ELSS का पूरा नाम है – Equity Linked Saving Scheme | जैसा कि नाम से प्रतीत होता है- ELSS Mutual Fund इक्विटीमें निवेश करके बचत करने की एक योजना है | जिसमें निवेश करने पर आयकर की धारा 80C के अंतर्गत आयकर में छूट मिलती है|आयकर में छूट प्राप्त होने के कारण ELSS म्यूच्यूअल फण्ड को Tax Saving Mutual Fund भी कहा जाता है| यह इक्विटी म्यूच्यूअल फण्ड के ही एक प्रकार हैं | इनमे निवेश करने पर निवेशक को तिहरे यानि तीन प्रकार के लाभ पाप्त होते हैं जैसे-

  • ELSS Mutual Fund में निवेशकों को अन्य बचत विकल्पों की तुलना में अधिक रेतुर्न प्राप्त होने की सम्भावना होती है|
  • साथ ही आयकर में छूट भी प्राप्त होती है|
  • अन्य बचत विकल्पों की तुलना में ई एल एस एस म्यूच्यूअल फण्ड का लॉक-इन पीरियड (Lock-in Period) काफी कम यानि तीन (3) वर्ष का होता है| इसके बाद इन्हें कभी भी बेंचा जा सकता है  और अपनी पूंजी, लाभ के साथ पुनः प्राप्त की जा सकती है|

सेबी (SEBI) के अक्टूबर, 2017 के सर्कुलर के अनुसार इ एल एस एस (ELSS) म्यूच्यूअल फण्ड की विशेषताएं

Characteristics of ELSS Mutual Funds as per SEBI Circular dated 06 th  October, 2017 
Category of Scheme ELSS
Scheme Characteristics Minimum investment in Equity & equity related instruments- 80% of total assets (in accordance with Equity Linked Saving Scheme, 2005 notified by Ministry of Finance)
Uniform description of scheme An open- ended equity linked saving scheme with a statutory lock in of 3 years and tax benefit
ELSS Mutual Fund
ELSS

ELSS Tax Saving Mutual Funds in hindi :

ELSS Mutual Funds को Tax Saving Mutual Fund भी कहा जाता है क्योंकि इनमे (ELSS में) निवेश से निवेशक को आयकर की धारा 80 C  के अंतर्गत 1.5 लाख तक कर योग्य आय में छूट मिलती है | इसका मतलब हुआ कि यदि आप ELSS Mutual Fund में निवेश करते हैं तो आपको आपके निवेश के हिसाब से अधिकतम 1.5 लाख तक कर योग्य आय में छूट मिलेगी है|

Tax Saving Mutual Fund की बहुत सारी खूबियाँ है जैसे

  • कम समय का लॉकइन पीरियड
  • Income Tax (आय कर ) में छूट
  • अन्य बचत योजनाओं की अपेक्षा अधिक रिटर्न देने की सम्भावना
  • SIP के माध्यम से थोडा थोडा निवेश करने की सुविधा

ELSS Mutual Funds में प्राप्त होने वाले रिटर्न (Returns):

Returns on ELSS Mutual Funds:

ELSS Mutual Fund एक इक्विटी म्यूच्यूअल फण्ड है जिसका 80% निवेश इक्विटी में होता है | यह अपना अधिकतर निवेश Large Cap या Blue Chip कम्पनीज में करते है | जिससे इनके रिटर्न में बहुत अधिक उतर चढाव नहीं आता है | और रिटर्न consistent बना रहता है| आम तौर पर ELSS Mutual  Fund लम्बे समय में 12-18% का रिटर्न दे देते हैं |

एल्स म्यूच्यूअल फण्ड की केटेगरी में कुछ हाई रिस्क म्यूच्यूअल फण्ड है कुछ मॉडरेट रिस्क और कुछ low रिस्क म्यूच्यूअल फण्ड है | हाई रिस्क म्यूच्यूअल फण्ड अधिक रिटर्न देने में सक्षम हैं किन्तु वहां पर रिस्क भी अधिक है | इसी प्रकार से low रिस्क वाले म्यूच्यूअल फण्ड कम रेतुर्न देते हैं किन्तु रिस्क कम रहता है| इस प्रकार से निवेशक अपने रिस्क सहन क्षमता के हिसाब से फण्ड को चुन सकता है |

ELSS Mutual Funds में Lock-in अवधि (Period) :

दोस्तों लॉक-इन अवधि वह समय अवधि होती है जिसके पहले म्यूच्यूअल फण्ड को नहीं redeem / बेंचा जा सकता है| ELSS म्यूच्यूअल फण्ड में लॉक-इन अवधि 3 वर्ष की होती है| अर्थात यदि आप ELSS म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते हैं तो इन फंड्स को तीन वर्ष के बाद ही redeem कर पाएंगे|

List of Best Performing ELSS Mutual Funds 2023:

दोस्तों नीचे Best Tax Saving ELSS Mutual Funds 2023 की लिस्ट दी गयी है| ये मात्र एजुकेशन के उदेश्य से है | यह किसी भी प्रकार की रिकमेन्डेशन नही है | यदि आप इनमे निवेश करते हैं तो यह आपका अपना स्वयं का निर्णय होगा लेखक या mutualfundamc.com किसी भी हानि या लाभ के लिए जिम्मेदार नहीं होगा| नीचे दिए गए High Return ELSS Mutual Fund list में उस फण्ड का Moneycontrol.com का लिंक भी दिया गया है जहाँ से आप आसानी फण्ड में रिसर्च कर सकते है| म्यूच्यूअल फण्ड की रेटिंग को Value Research तथा Crisil   के अनुसार दर्शाया गया है | यहाँ पर से भी आप म्यूच्यूअल फंड्स के बारे में सीख सकते हैं|

[table id=5 /]

उपरोक्त फंड्स में दर्शाया गया रिटर्न लेख लिखे जाने के समय का है | इसे मात्र एजुकेशन और सीखने  के उद्देश्य से देखा जाना चाहिए|

ELSS Mutual Fund में निवेश कैसे शुरू करें?

वर्तमान समय में म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश शुरू करना बहुत ही आसान हो गया है| निवेश शुरू करने के लिए इतने सारे मोबाइल एप्लीकेशन इस समय मौजूद है कि आप खुद कंफ्यूज हो जायेंगे कि किससे निवेश शुरू करें| इस कन्फ्यूजन को दूर करने के लिए हमें एक अलग से dedicated पोस्ट लिखी है कि कैसे म्यूच्यूअल फण्ड में या SIP में निवेश शुरू करें| किन किन एप्लीकेशन के माध्यम से निवेश शुरू कर सकते है जिससे एक नए निवेशक को कोई दिक्कत न हो| इस पोस्ट का लिंक नीचे दिया गया है-

ELSS mutual fund में निवेश कैसे शुरू करें यह जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

ELSS Mutual Funds के रिटर्न / लाभ पर टैक्स :

ELSS Mutual Funds के रिटर्न पर सिर्फ लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगता है-

  1. Long Term Capital Gain Tax on ELSS Mutual fund

1.  लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स ऑन ई.एल.एस.एस. (ELSS) म्यूच्यूअल फंड्स :

ELSS म्यूच्यूअल फण्ड को तीन (3) वर्ष के लॉक-इन अवधि के बाद ही बेंचा / Redeem किया जा सकता है| 3 वर्ष के बाद Redeem करने पर यदि लाभ एक लाख तक होता है तो कोई टैक्स नहीं लगता है | किन्तु यदि तीन वर्ष बाद Redeem करने पर लाभ एक लाख से अधिक है तो  एक लाख से ऊपर वाले amount पर वर्तमान कर दर के हिसाब से  10% का LTCG टैक्स  लगाया जाता है| इसे एक Example से समझते हैं-

Example-

[table id=6 /]

ELSS और PPF में कौन सा ज्यादा फायदेमंद है?

  • ELSS म्यूच्यूअल फण्ड एक इक्विटी लिंक्ड स्कीम है जिसमे रिटर्न शेयर मार्केट बेस्ड होता है कोई फिक्स रिटर्न होता है | जबकि PPF (पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड) सरकार की योजना है जिसमे रिटर्न सरकार द्वारा हर तिमाही के लिए फिक्स किया जाता है |
  • ELSS म्यूच्यूअल फण्ड में लॉक-इन अवधि 3 वर्ष की होती है जबकि PPF में लॉक-इन अवधि 15 वर्ष की होती है|
  • ELSS Mutual Fund में निवेश में रिस्क होता है किन्तु PPF में निवेश में रिस्क नहीं होता है|
  • ELSS म्यूच्यूअल फण्ड में लम्बी अवधि में  रिटर्न 12-18 % के आसपास होता है किन्तु PPF में रिटर्न 7-8% के आसपास होता है|
  • ELSS Mutual Funds के रिटर्न पर 10% का LTCG कर लगता है जबकि PPF के रिटर्न पर कोई टैक्स नही लगता है
  • ELSS और PPF दोनों में ही 80 C के अंतर्गत 1.5 लाख तक का डिडक्शन क्लेम किया जा सकता है|

[table id=8 /]

यदि आप एक कम उम्र के निवेशक हैं जैसे 18-40 साल के और थोडा सा रिस्क सहन कर सकते हैं , तो आपको अपने पोर्टफोलियो में ELSS म्यूच्यूअल फण्ड को जरुर से रखना चाहिए और PPF में कम निवेश रखना चाहिए और उम्र के साथ साथ इक्विटी में कम और PPF या debt स्कीम में अधिक निवेश करना चाहिए|

ELSS Mutual Fund तथा अन्य बचत योजनाओं में अंतर

Difference between ELSS Mutual funds and other saving Schemes

[table id=7 /]

उपरोक्त टेबल में आप देख सकते हैं कि ELSS म्यूच्यूअल फण्ड का रिटर्न अन्य बचत योजनाओं की अपेक्षा काफी अधिक है| और लॉक-इन अवधि भी काफी कम है|साथ ही आयकर में छूट भी मिलती है| और डिपाजिट की कोई लिमिट नही है आप जितना चाहें लगा सकते हैं| हाँ redeem करने पर, मिलने वाला रिटर्न यदि एक लाख से अधिक है तो उस एक लाख से अधिक अमाउंट पर 10% की दर से कर लगता है|

ELSS Mutual Fund में Exit Load

चूँकि mutual fund को एक वर्ष से पहले बेंचने पर लगभग 1% का exit load लगता है| किन्तु ELSS Mutual Fund में तीन (3) वर्ष से पहले नहीं Redeem कर सकते या बेंच सकते | इसलिए ELSS Mutual Fund में कोई Exit Load नहीं लगता है|

ELSS Mutual Fund का Expense Ratio

निवेशकों द्वारा ELSS म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश की गयी पूंजी के प्रबंधन के लिए म्यूच्यूअल फण्ड हाउस द्वारा एक फीस वसूली जाती है जिसे Expense Ratio  कहते हैं|यह अलग- अलग म्यूच्यूअल फण्ड की अलग- अलग होती है| कोई फिक्स नहीं होती है|

किन्तु यह ध्यान देने योग्य बात है कि यदि आप रेगुलर ग्रोथ म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करेंगे या किसी एजेंट के माध्यम से निवेश करेंगे तो Expense Ratio अधिक होगा और यदि किसी डायरेक्ट ग्रोथ म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करेंगे तो expense ratio कम होगा| expense ratio कम होने से रिटर्न बढ़ जाते हैं| इसीलिए किसी भी म्यूच्यूअल फण्ड के डायरेक्ट ग्रोथ प्लान की NAV हमेशा अधिक होगी, रेगुलर ग्रोथ प्लान की अपेक्षा |

ELSS Mutual Fund की विशेषताएं

  • बचत करने के साथ साथ आयकर में छूट पाने के लिए ELSS एक अच्छा निवेश विकल्प है|
  • यदि लम्बे समय के लिए निवेश किया जाये तो ELSS में निवेश Wealth Create करने का एक अच्छा विकल्प है|
  • ELSS में निवेश अन्य उपलब्ध विकल्पों की अपेक्षा अधिक रिटर्न देने में सक्षम है|
  • ELSS में लॉक-इन अवधि भी अन्य विकल्पों की अपेक्षा काफी कम होती है|
  • ELSSMF को Redeem करने पर Exit Load नहीं लगता है|
  • एक लाख रुपये तक के कैपिटल गेन में कोई टैक्स नहीं लगता है|
  • एक लाख से अधिक के कैपिटल गेन में 10% का टैक्स लगता है|
  • SIP के माध्यम से कम से कम पैसे से निवेश शुरू करने की सुविधा होती है|

ELSS Mutual Fund में किसे निवेश करना चाहिए?

इ.एल.एस.एस. म्यूच्यूअल फण्ड में उन निवेशकों को निवेश करना चाहिए जो लम्बे समय के लिए निवेश करने के इच्छुक हों और रिस्क सहन करने की क्षमता अधिक हो | क्योंकि म्यूच्यूअल फण्ड अपना पैसा डायरेक्ट इक्विटी में लगाते हैं जिसमे अक्सर उतार-चढाव देखने को मिलते हैं| इसलिए इन उतार-चढाव से डरना नहीं चाहिए| 

इस प्रकार से दोस्तों आज अपने ELSS Mutual Fund के बारे में सभी चीजे जानी| यदि कहीं पर कोई डाउट है तो आप कमेंट करके जरुर पूंछे| आपके सवालों के जवाब जरुर दिए जायेंगे| यह लेख कैसा लगा आपको, कमेंट करके जरुर बताएं|

Mutual Fund Investment is subject to market risk, read all scheme related documents carefully, before investing’

धन्यवाद!

S.R.Verma

Leave a Reply